ad

Tuesday, 13 June 2017

*आने वाले दिनों में रेलवे का सीन:* रेलवे टिकट खिड़की पर:


*आने वाले दिनों में रेलवे का सीन:*
रेलवे टिकट खिड़की पर:

यात्री: सर दिल्ली से लखनऊ का एक रिजर्व टिकट चाहिए....
क्लर्क: 750 रुपये

ग्राहक: पर पहले तो 400/- था
क्लर्क: सोमवार को 400/- है, मंगल बुध गुरु को 600/- शनिवार को 700 तुम संडे को जा रहे हो तो 750

ग्राहक :ओह! अच्छा लोअर दीजियेगा, पिताजी को जाना है 
क्लर्क :फिर 50 रुपये और लगेंगे….

ग्राहक :अरे! लोवर के अलग! साइड लोवर दे दीजिए न….
क्लर्क: उसके 25 रुपये और लगेंगे....

ग्राहक:हद है, न टॉयलेट में पानी होता है न कोच में सफ़ाई, किराया बढ़ता जा रहा है...

क्लर्क: टॉयलेट यूज का 50 रुपये और लगेगा, शूगर तो नहीं है न? 24 घंटे में 4 बार यानी रात भर में 2 बार से ज़्यादा जाएंगे तो हर बार 10 रुपये एक्स्ट्रा लगेंगे....

ग्राहक: हैं! अब रेलवे हगने मूतने का भी पैसा लेगा! और बता दो भाई, किस किस बात के पैसे लगने हैं एक्स्ट्रा..........

क्लर्क: देखो भाई, अगर फोन चार्ज करोगे तो 10 रुपये प्रति घंटा। अगर खर्राटे आएंगे तो 25 रुपये प्रति घंटा। अगर किसी सुन्दर महिला के पास सीट चाहिए तो 100 रुपये का अलग चार्ज है।
अगर कोई महिला आसपास कोई खडूस मर्द नहीं चाहती तो उसे भी 100 रूपये देना पड़ेगा। एक ब्रीफकेस प्रति व्यक्ति से अधिक लगेज पर 10 रुपये प्रति लगेज नग।
मोबाइल पर गाना सुनने की पररमिशन के लिए 25 रुपये एक मुश्त अलग-से । घर से लाया खाना खाने पर 20 रुपये का सरचार्ज़। उसके बाद अगर अपानवायु गर्जन हो गया तो 25 रुपये प्रदूषण शुल्क.....।

ग्राहक(सर पकड़ के): ग़ज़बै है भाई, लेकिन ई सब वसूलेगा कौन...??
क्लर्क:अरे अम्बानी से समझौता हुआ है, उसके आदमी वसूलेंगे.......

ग्राहक: एक आख़िरी बात बताओ। तुम्हें अभी कूटना हो तो कितना लगेगा......

क्लर्क: काहे बेट्टा ! हमको बोट दिए थे? अब अच्छे दिन आये हैं तो हमको काहे कूटोगे बे? जिसकी भक्ति की थी उसको कूटौ और अब और एक सवाल किया तो 10 रूपए अलग से। 3 और पूछो और 100 का नोट निकालो।
काहे कि छुट्टा तो है नहीं हमारे पास.......।