ad

Friday, 14 April 2017

Jokes in Hindi ....... "नोबेल फ़ॉर आसारामबापू"


 बीवी :- कल जो भिखारी आया था, बहुत कमीना है!
पति :- क्यों?
बीवी :- कल उसको खाना दिया था और आज मुझे किताब देकर गया है..... "खाना पकाना
🍳 सीखें "
😂 😂 😂 😂 😂 😂 😂 😂 😂 😂
.
.
.
.
.
टीचर- "नालायक, क्लास में दिन भर लड़कियों के साथ
इतनी बातें क्यों करता है?"





लड़का- "मैडम मैं गरीब हूं, नेट पैक नहीं हैं!!!"

😜😆😂😂😂
.
.
.
.
पत्नी ( बड़े प्यार से ) -  सुनिये जी , मेरी स्किन बहुत ऑयली ऑयली सी हो गयी है , बताइये न , मैं क्या लगाऊं ? 
.
.
पति . ये लो विम बार , ये पूरी चिकनाई हटा देगा ….☺☺☺😢😢😢  ???👍👍😂😂😂
.
.
.
.
.
 पति सुहागरात में पत्नी की निप्पल चूसते हुए बोला-
तुम्हारे निप्पल कितने नरम गरम और शरबती हैं
पत्नी- ( शरमाते हुये )
पता नही जी
जितने मुँह
उतनी बातें
😀😀😀😀😀😀
.
.
.
.
.
*अफवाह तो ये भी है कि...*


*योगी जी एक ऐसा स्क्वाड बना रहे है..*


*जो खुले में शौच जाने वालों का लोटा छीनकर भाग जाया करेगा*


😂😂😂
.
.
.
.
.
अब मैं एक ऐसा धर्म launch करुँगा 
जिसमे 3 बार बोलो .शादी.. शादी ..शादी 
और शादी हो जाएगी..!!

😀😀😀😀
.
.
.
.
सुबह पेपर में ख़बर पढ़कर आश्चर्य हुआ *"नोबेल फ़ॉर आसारामबापू"*

तुरंत पेपरवालों को फोन लगाया और कहा ये कया उल्टी सुल्टी खबर छापते रहते हो?

पेपरवाले ने मासूमियत से कहा स्पेस देने में गलती हो गई साब।
*"नो बेल फ़ॉर आसारामबापू"*
😜😅
.
.
.
.
.
😂😂😂😂😂😂😂
एक कुंवारा लड़का मर गया

*माँ रो रो के: हे भगवान् इसने तो अभी जवानी भी नहीं देखी थी*

*पड़ोस की भाभी रोते हुए बोली : ना रो चाची मैंने दिखा दी थी*
😂😂😂
*इंसानियत अभी भी ज़िंदा है*
😜😜😜😜
.
.
.
.
.
.
👨🏻शर्मा  जी  के घर 4 साल  बाद  एक "बच्चा" पैदा  हुआ। उसका  वजन  2  किलो  था।
        वो  खुशी  से  पागल  हो  गए....

मजाक के मूड में उन्होंने प्रेस की ऑफिस में फ़ोन कर दिया कि मुझे 2 किलो  का सोने का टुकड़ा हुआ है......

👱🏻रिपोर्टर घर पहुच गया...

👱🏻 - शर्मा जी घर पर है ???

👩🏻 (शर्मा की बीबी ) - नहीं.. बाहर  गए  है ।

👱🏻 - क्या ये सच है कि उनको 2 किलो का सोने का ,          टुकड़ा मिला है ?

👩🏻 ( अपने पति का मजाक समझ जाती है ) 
          - सही सुना है आपने

👱🏻 - क्या मै वो जगह देख सकता हू
           जहाँ से ये टुकड़ा मिला ??

👩🏻 - नहीं ; वो जगह प्राइवेट है 😜

👱🏻 - क्या यहाँ से दूर है ??

👩🏻 - नहीं एकदम पास ही है 
          मेरे करीब ही समझो 😜

👱🏻 - मि. शर्मा को खड्डा  खोदने  में 
          कितना  वक़्त  लगा ???

👩🏻 - वो  चार  साल से  मेहनत  कर  रहे  है 💪🏼

👱🏻 - खड्डा  गहरा  है ???

👩🏻 - हाँ , थोड़ा 😉

👱🏻 - वो खुदाई  कब  करते  थे ??

👩🏻 - ज्यादातर  रात  को 🖕।।

👱🏻 - खड्डा  खोदने  में  बहोत  मेहनत
           की  होगी  शर्मा  जी  ने ??

👩🏻 - और  नहीं  तो  क्या ?  बहोत 
           पसीना  बहाया  है उन्होंने 😉

👱🏻 - क्या  इस  जगह  पर  खुदाई  करने
          वाले  वो  पहले  आदमी  थे ??

👩🏻 - हा जी बिलकुल वो पहले आदमी है

👱🏻 - आप  कैसे  कह  सकती  है  कि 
           वो  पहले  आदमी  नहीं  थे ???

👩🏻 - यक़ीनन , क्योकि उस जगह 
           की मैं मालकिन हु ।।

👱🏻 - तो  अब  ये  जगह  क्या  आपने 
           उनको  बेच  दी  है ???

👩🏻 - अभी  तो  कानूनी रूप  से  उनको
  '        उस जगह खुदाई का अधिकार  है 🖕।।

👱🏻 - खुदाई  में  उनकी  मदद  और 
           कौन  करता  था ??

👩🏻 - मै  उनके  नीचे  काम  करती  थी ।।
                                          

👱🏻 - क्या  वो  इस  जगह  को  बेचना 
           चाहेंगे ??

👩🏻 - शायद  नहीं ,  उनको  यहाँ  काम  करने में   बड़ा  मज़ा  आता  है ओर  मुझे भी ।।
 - क्या  मै  उस  सोने  के  टुकड़े  को 
           देख सकता हूँ ???

👩🏻 - क्यों  नहीं ? हा  ये  देखो  👶🏻
   (मुस्कुराते हुए बच्चा दिखा देती है)

"प्रेस वाला हमेशा के लिए कोमा में😍
शेयर करो फटाफट☝
.
.
.
.
.
 एक आदमी अपनी गर्भवती बीवी को हॉस्पीटल ले
गया और नर्स से बोला;
अगर लडका हो तो कहना कि टमाटर हुआ है..

और अगर लडकी हो तो कहना प्याज हुयी है..!
.
इत्तेफाक से लडका लडकी दोनों जुडवा हो जाते हैं
और नर्स कन्फ्यूजन में बाहर आयी और बोली.....
सर बधाई हो.. "सलाद" हुआ है..!!😜😜😜😜  

चिकित्सा की शव यात्रा


चिकित्सा  की शव यात्रा 
       -------------::::-------------
मेङिकल कालेज ! तुम्हें प्रणाम 

याद है वह पल प्रथम दिवस का बढ़ी हुई थी दिल की धड़कन 
सतरंगी सपने लेकर जब आए तेरे व्दार पे बन ठन
चिकना चेहरा मूंछ सफाचट फौजी कट बालों में सज कर
श्वेत वस्त्र अप्रन धारण कर काला कंठ लंगोट फंसा कर
गर्दन झुकी चाल सहमी सी नजर टिकी तीसरे बटन पर
मेडिकल ऐंथम मन में रटते कदम बढ़ाते नई डगर पर
मानव तन की रचना समझी कैडेवर जी को चीर फाड़ कर
रात रात भर ग्रेज पलट कर फीमर और खोपड़ी पकड़ कर
दिल की धड़कन कैसे चलती किडनी कैसे फंक्शन करती
नर्वस सिस्टम बड़ा जटिल है यह सब जाना मेडिसिन पढ़ कर
दिन ढल जाता थक जाते सब लेकिन छुट्टी नहीं मयस्सर 
बेड साइड क्लीनिक में जब तक खड़े नही हों सीधे तन कर
धीरे थीरे समय सरकता गया और हम बने डाक्टर 
मेडिकल कालेज से निकले अनुशासन के सांचे में ढल कर
आधी उम्र गई पढ़ने में काम काम बस काम किया 
विशेषज्ञ बनने में हमने भरी जवानी वार दिया 
भूख प्यास की चिंता छोड़ी रातों की नींद हराम किया 
कब खाना कब सोना जगना इसका नहीं खयाल किया 
एड्स हो डेंगू या हो टीबी आगे बढ़ उपचार किया 
अपने सेहत की फिक्र छोड़ रोगी को मुंह से सांस दिया 
लेकिन मरीज के मरते ही डाक्टर की गलती ढूंढ लिया 
उसने ही गलत इलाज किया इंजेक्शन उसने गलत दिया 
मौत कहाँ होती है कभी दुर्घटना या बीमारी से
सांस हमेशा रुकती है बस डाक्टर की मक्कारी से
यह फरमान सुना कर भीड़ ने उसको घेर लिया 
कालर पकड़ा, धकियाया फिर जमीं पे उसको ढेर किया 
तनहा शरीफ पिटता ही रहा लोगों ने मुंह फेर लिया 
हेल्प हेल्प वह चिल्लाया, पर हाय हेल्प, बड़ी देर किया 
वक्त बेरहम वक्त से पहले सब सपनों को तोड़ दिया 
दो चार सिर फिरे लुच्चों ने डाक्टर की आंखें फोड़ दिया 
यह एक प्रसंग नहीं प्यारे यह आए दिन की घटना है
आज नहीं तो कल या परसों तेरा सिर भी फटना है
न्यायालय कहता डरते हो तो काम छोड़ कर घर बैठो
सरकारी फरमान है आता कि डाक्टर इतना मत ऐंठो
सी एम साहब कहते हैं तुम प्राइवेट प्रैक्टिस करते हो
बेवजह की जांचें करवा कर अपनी जेबें भरते हो
कट ओर कमीशन के चक्कर में मंहगी दवा मंगाते हो
गहन चिकित्सा केंद्र बना कर पैसा खूब कमाते हो
डाक्टर तुम्हें बनाने में सरकारी धन भी लगता है
गांव गरीब की सेवा से फिर भी तू अक्सर भगता है
त्याग तपस्या सेवा ही तुझको भगवान बनाते हैं 
तेरी मीठी मुस्कान से ही सब रोग दूर हो जाते हैं 
धन दौलत का लोभ त्याग कर मिशन मोड में काम करो 
हर गरीब की दुआ मिलेगी, रोशन दुनिया में नाम करो 
लेकिन ---
किन हालात में काम हम करते उन्हें नहीं संज्ञान
बुनियादी सुविधाओं का भी नहीं है नाम निशान 
मत मानो भगवान हमें और मत मानो  शैतान 
मत समझो रोबोट हमें, भाई, बस समझो इंसान 
अपने भी कुछ जरूरियात हैं अपना भी एक जहान 
हैंड टू माउथ ज्यादातर हैं सब हैं नहीं त्रेहान
माँ का गहना गिरवी रख कर, खेत बेच कर, कर्जा लेकर
बाप ने कैसे जोड़ तोड़ कर पढ़ने का किया लहान
जो दोषी हैं कड़ी सजा दो, भुगतें वो अंजाम 
पर बहुतेरे जो सच्चे हैं करो नहीं बदनाम 
टूट गया विश्वास अगर तो हर इलाज नाकाम 
आहत हो रिश्ता यह जिससे करो न ऐसा काम
आज चिकित्सा का अभिमन्यु चक्रब्यूह में फंसा हुआ है
झेल रहा है वार निरंतर आरोपों से घिरा हुआ है
कवच सुरक्षा का बेकार, काम कर बस शुचिता ढाल 
आज चिकित्सा का अभिमन्यु exit व्दार ढूंढ रहा है
अपनी लाश को कंधा देकर धीरे धीरे डोल रहा है
अपनी शव यात्रा में शामिल, राम नाम वह बोल रहा है
                डा. सी. एम. पांडेय

Santa Banta hindi jokes and new chutkule


(1.) बंता- जेल को हिंदी में हवालात क्यों कहते हैं?

संता- क्योंकि जेल में खाने को सिर्फ हवा और लात ही मिलती है

(2.) संता – यार मैं बहुत परेशान हूं मेरी बीवी मुझसे 1 पप्पी का 1 रुपया लेती है
बंता – तू तो लकी है रे… दूसरों से तो वो 5 रुपये लेती है

(3.) एक जमाना था.. जब लड़की सूट पहन कर पढऩे जाती थी.. और आकर घर के 4 लोगों को.. पढ़ाती थी…. और अब……. जींस पहन कर कॉलेज जाती है…. तो 40 लडकों को फेल कराके आती हैं….

(4.) संता- यार मैं सोच रहा हूं.. शादी कर लूं।
बंता – अबे पगला गया है क्या घर से क्यों हाथ धोना चाहता है।
संता- अबे शादी कर रहा हूँ, इसमें घर जाने से क्या मतलब…
बंता- अबे बीवी घर बेच देगी
संता- तू पागल हो गया है, वो घर क्यों बेचेगी
बंता- देख फूलवाली फूल बेचती है, सब्जीवाली सब्जी बेचती है, तो.. घरवाली घर नहीं बेचेगी..??

(5.) प्रीतो (संता से)- बाइक तेज ना चलाओ मुझे डर लग रहा है।
संता- अगर तुझे भी डर लग रहा है तो मेरी तरह आंखें बंद कर लें।

(6.) संता को चांद पर भेजने का फैसला हुआ। आधे रास्ते जाकर संता राकेट से कूद गया और चिल्लाया, कमीनो आज तो अमावस्या है, चांद तो होगा ही नही।

(7.) संता रॉन्ग साइड कार चला रहा था तो बोला ओ शिट, आज फिर लेट हो गया सारे लोग वापस जा रहे हैं।

(8.) संता – तेरा भाई आजकल क्या कर रहा है?

बंता – एक दुकान खोली थी, पर अब जेल में है!

संता – वो क्यों?

बंता – दुकान हथोड़े से खोली थी।

(9.) संता और उसकी पत्नी कॉफी शॉप में कॉफी पीने जाते है।

संता (पत्नी से)– कॉफी जल्दी-जल्दी पीयो।

पत्नी- क्यों?

संता- क्योंकि हॉट कॉफी 5 रू0 की और कोल्ड कॉफी 10 रू0 की है।

(10.) संता- यार में बहुत परेशान हूं मेरी बीवी मुझसे 1 पप्पी का 1 रुपया लेती है
बंता- तू तो लकी है रे दूसरों से तो वो 5 रुपये लेती है

(11.) शिक्षक (संता से) – तुम्हारा जन्म कहां हुआ था?

संता – तिरुअनंतपुरम मे। शिक्षक – तो इसकी स्पेलिंग बताओ?

संता – बहुत सोचने के बाद, मेरे ख्याल से मेरा जन्म गोवा में हुआ था।

(12.) संता- जानते हो भाई बीवी अगर मायके गई हो तो आदमी तब तक बर्तन नहीं धोता

बंता- कब तक?

संता- जब तक की चाय कढ़ाई में बनाने की नौबत न आ जाए।

(13.) संता- एक लड़की ने दोबारा शादी करने का फैसला किया है, तुम्हें कारण पता है?

बंता- नहीं संता- वो क्या था न……… उसके पिछले शादी की फोटो पर कम लाइक्स मिले थे!

(14.) बंता- जेल को हिंदी में हवालात क्यों कहते हैं?
संता- क्योंकि जेल में खाने को सिर्फ हवा और लात ही मिलती है।

(15.) संता- सिस्टर मुझे एक बोतल खून दे दो सिस्टर- ब्लड ग्रुप बताओ?

संता- कोई भी चलेगा।

सिस्टर- कैसे?

संता- गर्लफ्रेंड को लव लैटर लिखना है।

(16.) संता की तपस्या से खुश होकर भगवान उसे बोले- वर मांगो वत्स।

संता- प्रभु आप जैसा सोच रहे हो मैं वैसा नहीं हूं, मुझे वर नहीं वधू चाहिए।

(17.) संता (बंता से)- जब मैं पैदा हुआ था तो मेरे
पापा ने 51 बंदूकें चलवायी थी।
बंता (संता से)- कमाल है, सबका निशाना चूक गया।

(18.) संता- यार, ये प्यार क्या होता है?

बंता- अरे यार, यह पी यार का अपभ्रंश है।

(19.) संता -एक बात हमेशा याद रखना। दुनिया में कुछ मिले या न मिले, दो चीजें हक से लेनी चाहिए।

बंता- क्या संता- एक समोसे के साथ एक्स्ट्रा चटनी और दूसरा गोलगप्पे के बाद पानी।