ad

Monday, 6 March 2017

Now MCI Plans Unique ID Number For Doctors


  


The Medical Council of India (MCI) is planning to give unique identification numbers to all doctors in India, according to president of MCI.

“This is the only way to know how many doctors we have in the country. We can easily track doctors if they move from one State to another,” president said on Friday.

When the MCI was started, there were 22 medical colleges. There were 460 medical colleges now, she said, adding that 500 doctors passed out a year when the MCI was established, while 63,985 doctors were produced every year now. “This will be beneficial to all as we will have records of all doctors and their practice. We can identify a doctor by the unique identification number,” she added.

The president said the MCI had come up with the Digital Mission Mode Project under which they would monitor faculty members of every medical college.

“This will be implemented in 100 colleges by April. Colleges that fail to implement the project or do not take care to continue the implementation will face punishment,” she later told reporters.

Expressing concern over how the practice of medicine had changed, she said, “In the last two years, we have received 481 complaints and 235 appeals on medical negligence and professional misconduct. Of this, nearly 130 complaints pertain to faculty of various medical colleges submitting fake documents.”

She said that the MCI has undertaken an enormous exercise to convert undergraduate and post graduate curriculum into competency-based curriculum.

Source : The Hindu

Jokes .... Kejriwal proposing the name of Kanhaiya kumar for marriage with Basanti .............


मौसी: लेकिन बेटा, बुरा नहीं मानना, इतना तो पूछना ही पड़ता है, कि Kanhaiya Kumar का खानदान क्या है, उसके लछछन कैसे है, कमाता कितना है? 

दोस्त : कमाने का तो यह है, मौसी.... कि एक बार JNU से स्टाईपेंड बंद हो गयी तो ... कमाने भी लगेगा.

मौसी : स्टाईपेंड मतलब, बच्चा पढ़ रहा है? इतनी कम उमर में शादी?

दोस्त : नहीं नहीं ये मैंने कब कहा मौसी. लडका तो 30 साल का है. वहाँ तो 40, 45 साल के बच्चे भी स्टूडेंट होते हैं.

मौसी   : हाय दैया, इतना बड़ा लड़का? और रहता कहाँ है, होस्टल में?

दोस्त : वैसे रहता होस्टल में है पर कभी कभी पुलिस थाने में सोना पड़ता है...

मौसी :  पुलिस थाने में? तो क्या लड़का चोर है?

दोस्त : वो और चोर ना... ना मौसी वो तो क्रांतिकारी है. कभी कभी दोस्तों के साथ अफजल के समर्थन में या पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे देता पकड़ा जाता है तो पुलिस उठा के ले जाती है.

मौसी  : ही ही बस यही एक कमी रह गयी थी. मतलब देशद्रोही है वो?

दोस्त : मौसी आप तो मेरे दोस्त को गलत समझ रही हैं. वो तो इतना सीधा और भोला है कि आज़ादी के चक्कर में उसे होश ही नहीं रहता कि वो कौन से देश का है.

मौसी : अरे बेटा, मुझ बुढ़िया को समझा रहे हो, मेरे बचपन में हम आजाद हो चुके हैं. अब कौनसी आजादी मांग रहा है?

दोस्त: बस मौसी, उसका पता चलते ही हम आप को खबर दे देंगे.

मौसी  : एक बात की दाद दूँगी बेटा, भले सौ बुराईयां है, तुम्हारे दोस्त में फिर भी तुम्हारे मुंह से उस के लिए, तारीफ ही निकलती है.  

दोस्त : अब क्या करूं मौसी.... मेरा तो नाम ही केजरीवाल है.😆😆😆

Also see

https://www.youtube.com/watch?v=ktK14r-oMlY