ad

Saturday, 12 November 2016

अपनी राशि के अनुसार पौधारोपण करें और जीवन में खुशियों की बाहर लाएं

अपनी राशि के अनुसार पौधारोपण करें और जीवन में खुशियों की बाहर लाएं
===================================
मेष राशि _ मनी प्लांट ,रातरानी, अशोक .

वृषभ _ दूर्वा, तुलसी ,अमरुद,

मिथुन _ चंपा ,केला, तुलसी,

कर्क _ अशोक, चांदनी ,गुलाब,

सिंह _   तुलसी, रातरानी

कन्या _ तुलसी ,मनी प्लांट ,अमरबेल

तुला _ दूर्वा, तुलसी ,चांदनी, गुलाब या अमरुद

वृश्चिक _ मीठी नीम ,अमरबेल, केला, अशोक

धनु _ केला ,तुलसी ,नाग चंपा ,

मकर _ तुलसी ,गेंदा ,मोगरा ,मरवा,

कुंभ  _ रातरानी,  गिलोय, तुलसी या दूर्वा

मीन _  केला ,तुलसी, अशोक , मीठा नीम ,अमरुद ,

=========================

  इन पौधों को अपनी अपनी राशि के अनुसार लगाये और जीवन में खुशियों की बाहर लाएं.

Hindi Cutkule ..... लडकियां भाव खा रही हैं..

कागज़ पे लिखी गज़ल, बकरी चबा गयी !
चर्चा पुरे शहर में हुई, के बकरी शेर खा गयी...
.
.
.

कुदरत का करिश्मा देखो
.
.
.
.
जो अपने पति की ना हुई वो राजस्थान की सी.एम. है !
और
जो अपनी पत्नी का नहीं हुआ वो भारत का पी.एम. है ।
.
.
.

चाय से सुरु हुई थी ये सरकार.....
गाय पे अटक गई...
विकास की मम्मी रास्ते में कही भटक गई.....
.
.
.

लडकियां भाव खा रही हैं..
लडके धोखा खा रहे हैं...
पुलिस रिश्वत खा रही हैं...
नेता माल खा रहे हैं....
किसान जहर खा रहा है...
जवान गोली खा रहा है...
कौन कहता है कि भारत भूखा मर रहा है ???
.
.
.
.

झाडू वाला मुख्यमंत्री है
चाय वाला प्रधानमंत्री हैं
12वी पास देश की शिक्षा मंत्री हैं
अंगूठा टेक सरपंच
और
हम ग्रेजुएट डिप्लोमा वाले FACEBOOK WHATSAPP पर 
ग्रुप-ग्रुप खेल रहे हैं
.
.
.
.

अकेला आदमी 
परिवर्तन लाता है
और 
शादीशुदा
सब्जी लाता है
.
.

.
.
जिनको हम चुनते हैं...वो ही हमें धुनते हैं..
चाहे बीवी हो या नेता...दोनो कहाँ सुनते हैं..
.
.
.
.

"बुद्धी" का उपयोग करनेवाले जापान में...
603 किमी./घंटा रफ्तार वाली ट्रैन के बाद,
7G की टेस्टिंग शुरू हो चुकी है...
और इंडिया में "पढ़े-लिखे" 
लोग 
Whatsapp पर 11 लोगों को
”ॐ नम: शिवाय:" भेजकर 
फ्री बैलेंस और चमत्कार की उम्मीद कर रहे हैं।।
और तो और नही भेजा तो
अप्रिय घटना की चेतावनी ओर दे देते है . 
.
.
.

अगरबत्ती दो प्रकार की होती है... -
एक भगवान के लिए , एक मच्छरों के लिए...
तकलीफ ये है कि...
-भगवान आते नहीं , मच्छर जाते नहीं...