ad

Friday, 18 March 2016

Jokes ................ मुझे बहोत ख़ुशी है की आज ऑफिस में एक साथ दस स्टाफ की बीवी प्रेग्नेंट है

तिवारी साहब एकदम कडक ऑफिसर ................,


स्टाफ अगर लेट आये तो उनको बिलकुल बर्दाश्त नहीं होता।
नियम यह था की लेट जो भी आएगा वो रजिस्टर पे लेट आने का कारन भी लिखेगा......

उस दिन ऑफिस आने पे जब तिवारी जी ने रजिस्टर देखा तो उनका दिमाग ही ख़राब हो गया..........

तुरंत दस स्टाफ को केबिन में बुलाया गया............,
दसो स्टाफ केबिन में लाइन से गर्दन झुका के खड़े थे......

तिवारी साहब के आँखों से अंगार निकल रही थी और गुस्से से लाल पिले हो रहे थे......

इतने में ही peon अंदर एक मिठाई का डब्बा लेके आया...

इतने में तिवारी साहब उठे......
आँखे तरेरते हुए सारे स्टाफ को मिठाई हाथ में दी और कहा - "खाओ'....



किसी को कुछ समझ नहीं आ रहा था पर डर के मारे मिठाई खा ली...

"बधाई हो बधाई", तिवारी साहब चिल्लाये....
और कहा....
"मुझे बहोत ख़ुशी है की आज ऑफिस में एक साथ दस स्टाफ की बीवी प्रेग्नेंट है".........
और इससे भी आश्चर्य की बात यह है की सबकी सोनोग्राफी भी आज ही हुई है"



"बेवकूफो रजिस्टर पे लिखते समय यह तो देखो की ऊपर वाले ने क्या लिखा है....बिना देखे 'Same As Above' लिख देते हो........ ,



 और इससे भी बड़ा आश्चर्य यह है की इन दस जनो में दो लेडीज स्टाफ है। 

ज्ञानी जी का ज्ञान.... जहां मन पहुंच जाता है, वहां धर्म नहीं है

एक मुसलमान फकीर हुआ—हाजी मोहम्मद। साधु पुरुष था। एक रात उसने सपना देखा कि वह मर गया है और एक चौराहे पर खड़ा है, जहां से एक रास्ता स्वर्ग को जाता है, एक नरक को; एक रास्ता पृथ्वी को जाता है, एक मोक्ष को। चौराहे पर एक देवदूत खड़ा है—एक फरिश्ता, और वह हर आदमी को उसके कर्मों के अनुसार रास्ते पर भेज रहा है।

हाजी मोहम्मद तो जरा भी घबडाया नहीं; जीवनभर साधु था। हर दिन की नमाज पांच बार पूरी पढ़ी थी। साठ बार हज की, इसलिए हाजी मोहम्मद उसका नाम हो गया। अकड़कर जाकर द्वार पर खड़ा हो गया देवदूत के सामने। 
देवदूत ने कहा, ‘हाजी मोहम्मद! ‘ देवदूत ने इशारा किया, ‘नरक की तरफ यह रास्ता है।’ 
हाजी मोहम्मद ने कहा, ‘ आप समझे नहीं शायद। कुछ भूल—चूक हो रही है। साठ बार हज किये हैं।’

देवदूत ने कहा, ‘वह व्यर्थ गयी; क्योंकि जब भी कोई तुमसे पूछता तो तुम कहते, हाजी मोहम्मद! तुमने उसका काफी फायदा जमीन पर ले लिया। तुम बड़े अकड़ गये उसके कारण। कुछ और किया है?’
हाजी मोहम्मद के पैर थोडे डगमगा गये। जब साठ बार की हज व्यर्थ हो गयी, तो अब आशा टूटने लगी। उसने कहा, ‘ही, रोज पांच बार की नमाज पूरी—पूरी पढ़ता था।’ 
उस देवदूत ने कहा, ‘वह भी व्यर्थ गयी; क्योंकि जब कोई देखने वाला होता था तो तुम जरा थोड़ी देर तक नमाज पढ़ते थे। जब कोई भी न होता तो तुम जल्दी खत्म कर देते थे। तुम्हारी नजर परमात्मा पर नहीं थी; देखने वालों पर थी। एक बार तुम्हारे घर कुछ लोग बाहर से आये हुए थे, तो तुम बड़ी देर तक नमाज पढ़ते रहे। वह नमाज झूठी थी। ध्यान में परमात्मा न था, वे लोग थे। लोग देख रहे है तो जरा ज्यादा नमाज, ताकि पता चल जाये कि मैं धार्मिक आदमी हूं—हाजी मोहम्मद; वह बेकार गयी; कुछ और किया है?’ 

अब तो हाजी मोहम्मद घबड़ा गया और घबड़ाहट में उसकी नींद टूट गयी। सपने के साथ जिंदगी बदल गयी। उस दिन से उसने अपने नाम के साथ हाजी बोलना बंद कर दिया। नमाज छिपकर पढ़ने लगा; किसी को पता भी न हो। 
गांव में खबर भी पहुंच गयी कि हाजी मोहम्मद अब धार्मिक नहीं रहा। कहते हैं कि नमाज तक बंद कर दी है! बुढ़ापे में सठिया गया है। लेकिन उसने इसका कोई खंडन न किया। वह चोरी छिपे नमाज पढ़ता। वह नमाज सार्थक होने लगी। कहते है, मरकर हाजी मोहम्मद स्वर्ग गया।

तुम्हारा मन प्रार्थना भी करेगा, तो भी प्रार्थना न होने देगा। तुम्हारा मन प्रार्थना से भी अहंकार को भरने लगेगा। अपने ध्यान की चर्चा मत करना, उसे छिपाना। उसे संभालना, जैसे कोई बहुमूल्य हीरा मिल गया हो और उसे तुम छिपाते हो, उछालते नहीं फिरते हो। संपदा को तुम गड़ा देते हो—ऐसे ही तुम ध्यान को गडा देना। उसकी तुम चर्चा मत करना। उससे तुम अहंकार मत भरने लगना। अन्यथा मन की बेल वहां भी पहुंच गयी और वह चूस लेगी। और जहां मन पहुंच जाता है, वहां धर्म नहीं है। और जहां मन नहीं पहुंचता, वहां धर्म है। मन बहिर्मुखता है। उसका ध्यान दूसरे पर होता है, अपने पर नहीं होता। ध्यान अंतर्मुखता है।

Jokes ................ Hindi ki shaadi hui

Indian puns:

Pankaj udhas dips his french fries in Afsauce.

Hindi ki shaadi hui, badi maatra mein log aaye.

A potato was interrogated by cops. After 3 hours of torture, it gave in an said 'Main batata hun, main batata hoon....'

What do you call drunk Pandavas?
High Five.

What does Barack Obama have for lunch?
Michelle pav.

When a bimbo looks in the mirror, what does she see?
Her pratibimbo

If Da Vinci was born in Kolkata, he would have been Vinci Da.